मेरी बुर मारो ना प्लीज


indian sex stories

मेरी कहानी पढ़ने वाले सभी लोगों को मेरा नमस्कार | मेरा नाम रागिनी है और मैं बीकानेर की रहने वाली हूँ | मेरे घर में मेरे मम्मी पापा और एक बहन है पल्लवी | मैं और मेरी बहन जुड़वा है लेकिन अलग अलग कॉलेज में पढ़ते है | मेरा कॉलेज में एक बॉयफ्रेंड भी है उसका नाम आयुष है और वो बहुत अच्छा लड़का है | मैं और मेरी बहन में काफी अच्छी बनती है और हम दोनों अपनी सारी बातें एक दूसरे को बताते है | मुझे ऐसा लगता है कि मेरे दूध पल्लवी के दूध से छोटे है और उसको लगता है मेरे बड़े है उससे, इसलिए कभी कभी हम एक दूसरे के टेप से नापते रहते है और ज्यादातर दोनों का साइज़ एक समान ही आता है | पल्लवी का कोई बॉयफ्रेंड नहीं है क्यूंकि वो गर्ल्स कॉलेज में पढ़ती है इसलिए कभी कभी मुझसे कहती रहती है कोई लड़के से मिलवा दे या फिर अपना बॉयफ्रेंड ही दे दे | वैसे हमारे कुछ चटपटे किस्से है, तो आईये उनको पढ़ते है |

जब मैं कॉलेज में थी और मेरा पहला सेमेस्टर था तभी मेरी मुलाकात आयुष से हुई और तभी से वो मुझे पसंद आ गया | शायद मैं भी उसको पसंद थी इसलिए वो रोज़ मुझसे बात किया करता था और कुछ दिन बाद उसने मेरा नंबर ले लिया और हम घंटों फ़ोन पर बात किया करते थे | वैसे जब मैं उससे चैट करती थी तो ज्यादातर पल्लवी मेरे बाजू में ही होती थी और उसे हमारी सारी बातें पता होती थी | एक दिन मेरी जगह पल्लवी चैट कर रही थी और उसने आयुष को आई लव यू लिखकर भेज दिया | मुझे डर लगने लगा कहीं ये बुरा न मान जाये इसलिए मैं पल्लवी से लड़ने लग गई | तभी मेरे मोबाइल पे मैसेज आया आई लव यू टू | मेरी ख़ुशी का ठिकाना नहीं रहा और मैंने पल्लवी को सॉरी भी कहा और उसके गले लग गई | अभी तक मैंने आयुष को नहीं बताया था कि मेरी एक जुड़वा बहन भी है | कभी कभी ऐसा होता था कि वीडियो चैट पे पल्लवी मेरी जगह उससे बात कर लिया करती थी और उसको इस बात का कभी शक भी नहीं हुआ कि हम एक नहीं बल्कि दो | अब बारी आई घुमने फिरने की तो ये हक मेरा था और उसके साथ घूमने फिरने भी मैं ही जाया करती थी लेकिन एक बार की बात है हम दोनों ने उसके साथ मस्ती करने की सोची |

मैं और आयुष एक मंदिर गए और पूजा करने के बाद मंदिर की परिक्रमा करने लगे | उसके बाद मैं एक तरफ चली गई और आयुष वहीँ खड़ा रहा | तभी पल्लवी पीछे से आई और उससे कहा चले | उसने कहा अभी तो तुम वहां गई थी तो उसने कहा अरे मैं इस तरफ गई थी | पल्लवी ने कहा ठीक है तुम मेरे साथ चलो और वो उसको थोड़ी आगे तक लेके गई और कहा तुम यहीं रुकना मैं पानी पीकर आती हूँ और चली गई | तभी मैं उसके पीछे से आई और कहा चलो चलें, आयुष की शकल देखने लायक थी, वो अपना सर खुजाते हुए मुझसे कहने लगा तुम भूत हो क्या ? तो मैंने कहा क्या मतलब है तुम्हारा | तो उसने कहा अरे मेरा वो मतलब नहीं है तुम जाती कहीं से हो और आती कहीं से हो | मैंने कहा चलो और किसी अच्छे डॉक्टर को दिखा देना शायद तुम पागल हो रहे हो | उसके बाद हम घर पहुँचे और जब पल्लवी घर आई तो हम दोनों साथ बैठके बहुत हँसे | ऐसे ही एक दिन जब आयुष मेरे घर आया तो मैंने उससे कहा ऊपर आ जाओ और वो ऊपर आया और मैंने उसको फाइल दी और वो नीचे चला गया | जैसे ही वो नीचे उतरा तो उसकी नज़र अन्दर की तरफ पड़ी, अन्दर पल्लवी काम कर रही थी | पल्लवी ने बताया कि आयुष का चेहरा ऐसा हो गया था जैसे की उसने कोई भूत देख लिया हो | उस दिन उसने मुझसे फिर से पूछा कि क्या मैं भूत हूँ ? उसके बाद कुछ दिनों तक हमारे बीच ऐसा ही चलता रहा |

हम दोनों बहनों में पल्लवी ज्यादा तेज़ है इसलिए एक जब दिन वो आयुष से वीडियो चैट कर थी और मैं वहां नहीं थी, तो उसने अपने दूध दिखा दिए और मुझे कुछ बताया भी नहीं | आगे दिन कॉलेज में जब मैं और आयुष साथ बैठे थे तो उसने कहा यार तुम्हारे कितने मस्त है | तो मैंने पूछा क्या ? तो उसने मेरे दूध दबा के कहा ये और क्या, तो मैंने उससे कहा तुमने कब देख लिए ? तो उसने कहा चलो अब ज्यादा बनो मत कल रात को ही दिखाए थे वीडियो चैट पे, भूल गई क्या ? तो मैंने कहा नहीं बस ऐसे ही कन्फर्म कर रही थी | फिर उसने कहा पूरा कब दिखाओगी ? तो मैं शर्मा गई | फिर घर आने के बाद मैंने पल्लवी को कहा जो भी करती है मुझे बता दिया कर कमीनी और तेरी इस हरकत से अब उसको पूरा देखना है और करना भी है | तो पल्लवी ने कहा ठीक है बुला लो उसको घर, मुझे कुछ ठीक नहीं लगा लेकिन फिर भी मैं उसको बुलाने के लिए मान गई | मम्मी पापा दोनों काम पे जाते थे इसलिए शाम को 5 बजे तक घर में कोई नहीं होता था | तो मैंने आयुष को 10 बजे बुला लिया और वो टाइम से पहले ही आके खड़ा हो गया, हवसी कहीं का | जब वो आया तो पल्लवी उसको अन्दर लेकर गई और उसके साथ मज़े करने लगी | मैं एक जगह से सब कुछ देख रही थी उसने उसका टॉप उतार दिया था और उसके दूध भी चूस लिए थे और उसके पजामे में हाँथ डालके उसकी चूत सहलाते हुए बिस्तर पर उसके साथ लेटा हुआ था |

तभी मैं कमरे में अन्दर गई और कहा आयुष तुम क्या कर रहे हो ? तो आयुष ने जैसे ही मुझे देखा पल्लवी को धक्का दिया और खड़ा हो गया और कहा रागिनी तुम, तो ये कौन है ? मैंने कहा ये मेरी जुड़वा बहन है और तुम इसके साथ | तो पल्लवी हंसने लगी और कहा मत सताओ अब ज्यादा और फिर पल्लवी ने आयुष को सारी बात बता दी | मैं कहा अरे पल्लवी थोड़ी देर और रूकती न कितना मज़ा आ रहा था | फिर आयुष ने मेरे बाल पकड़े और मुझे किस करना शुरू कर दिया और किस करने के बाद मुझसे कहा मज़ा आ रहा था रुक तेरी अभी लेता हूँ | फिर उसने मेरे कपड़े उतार दिए और मुझे पूरा नंगा कर दिया और पल्लवी का भी पजामा उतार दिया और कहा आज मिला है बम्पर ऑफर एक के साथ एक फ्री | फिर पल्लवी आयुष का लंड चूसने लगी और आयुष मेरी चूत चाटने लगा | मेरी चूत चाटते चाटते वो मेरी चूत में ऊँगली भी कर रहा था और मैं अपने दूध दबाते हुए ऊम्म उम् उमम्म अहह ऊह्ह्ह उह्ह्ह उम्म्म्म उम् ऊआह्ह्ह्ह उहह्ह्ह यहह य्ह्ह्हह उम्म्म अह्ह्ह अह्ह्ह उमम्म करती रही | फिर उसने खड़े होकर मेरी चूत में लंड डाल दिया और मुझे चोदने लगा और पल्लवी भी खड़ी हो गई तो दोनों किस करने लगे |

आयुष मुझे चोद रहा था और पल्लवी के दूध दबाते हुए उसको किस भी कर रहा था और मैं लेटे लेटे बस अह्ह्ह अह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह ऊह्ह्ह अहह अह्ह्ह य्ह्ह्हह य्ह्ह्हह उम्म्म उम्म्म उम्म्म उह्ह्ह य्ह्ह्ह य्ह्ह्ह अहह अह्ह्ह करती रही | उसने मुझे थोड़ी देर चोदा और उसके बाद पल्लवी को मेरे ऊपर ही घोड़ी बना दिया और पीछे से उसकी चूत में लंड डालके उसको चोदने लगा और अब वो अह्ह्ह अह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह ऊह्ह्ह अहह अह्ह्ह य्ह्ह्हह य्ह्ह्हह उम्म्म उम्म्म उम्म्म उह्ह्ह य्ह्ह्ह य्ह्ह्ह अहह अह्ह्ह करती रही | मैंने और पल्लवी ने थोड़ी देर किस भी की और मैंने उसके दूध भी दबाए | उसको थोड़ी देर चोदने के बाद आयुष ने कहा मेरे ऊपर आ जाओ और इतना बोलकर वो बिस्तर पर लेट गया | मैं उसके लंड के ऊपर गई और पकड़ कर अपनी चूत में डाला और उचकते हुए अह्ह्ह अह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह ऊह्ह्ह अहह अह्ह्ह य्ह्ह्हह य्ह्ह्हह उम्म्म उम्म्म उम्म्म उह्ह्ह य्ह्ह्ह य्ह्ह्ह अहह अह्ह्ह करती रही | जब मैं उचक रही थी तो पल्लवी आयुष को अपने दूध चूसा रही थी | थोड़ी देर बाद पल्लवी ने मेरे दूध दबाए और उसके बाद आयुष ने हम दोनों को नीचे बैठाया और हम दोनों के ऊपर अपना वीर्य गिरा दिया | फिर आयुष बिस्तर पर लेट गया और पल्लवी उसका लंड चूसने लगी और मैं अपना चेहरा साफ़ करके उसके बाजू में जाकर लेट गई और उसको किस करने लगी | थोड़ी देर बाद आयुष का फिर से खड़ा हो गया तो उसने हम दोनों को फिर से चोदा और उसके बाद वो अपने घर चला गया | पल्लवी ने हम तीनो की कुछ फोटो भी ली याद के लिए | आयुष आज भी मेरे घर आता है और हम तीनो मिलके बहुत धमाल करते है | तो दोस्तों कैसी लगी मेरी कहानी |


error:

Online porn video at mobile phone


aunty ki chudai ki sex storybf kahanihard fuck fuckiss storiessax kisserotic stories in hindi fontpapa ki chudai kahanimummy ko sote me chodahindi girl ki chudaidevar bhabhi indian sexdehati sexchudai urdu kahaniyanjuicy sexy storiesoriya chudaimeri chut phadiLund chut story latestbhabhi in pornapni teacher ki chudaidoodhwale combhabhi ki sex kahaniantarvassna hindi story freesex in office girlhindi sex story 2010hindi xxx hindisex savita bhabhihindi sex kahani with photochudai chachi ke sathgand me chudaikamukuta comladki ka landhindi chudayi ki kahaniyasexy khaniya hindibhabhi ki chudai hindi historyaarti sexindian sex hindi mehindi font sexy kahanibhabhi ki chut hindi kahanibhabhi ke sath chodanipple in hindiwww sex kahani hindisasur bahu sex story hindimaa behan chudaigova xxxsali ki chut kahaniMalik ki behan ki chudaijija sali ki chudai hindiww sex 2050 comhindi nangi chutफुल मोटा लड का तमासा सेकसी सटोरी Comchudai bhabhi kejabardast chudai ki kahanihind xxx storywww suhagratporn sex story in hindidesi hindi sexy storychùdaidesi bhai sexbehan ki choot marihindi sex story realash ki chutbiwi ko chudwayabhabhi ki sex storymaa chudi bete sestory mami ki chudaichudai dastanvabi chudaichudai smschut me daladidichudaikhaniyaland boor ki chudaiboor aur lundpyasi bahu ki chudaichut ki sexy storieschote bhai se chudwayabangali bhabi ki chudaibhabhi romance with devarDidi ki chut ko char land se chodamom or bete ki chudaifree indian porn storieshindi seshot hindi antarvasna