अपनी चाची को बनाया माँ


हैल्लो दोस्तों मैं हूँ आपका यार विक्की और आज मैं आपको अपनी चुदाई की एक दास्ताँ बताने जा रहा हूँ जिसमे मैंने अपनी चाची को चोदा था | मैं आपको पहले अपने बारे में बता दूँ, मैं गुजरात का रहने वाला हूँ और मेरे घरवालों का कपडे का कारोबार है | हमारे घर में मेरे मुम्मी पापा चाचा चाची बुआ फूफा और दादा दादी सब मिल कर एक ही घर में रहते है लेकिन कमरे अलग अलग हैं | अब ज्यादा बकचोदी न करते हुए मैं सीधे कहानी पर आता हूँ और आपको बताता हूँ कैसे मैंने अपनी चाची को चोदा था |

कहानी शुरू होती है तब से जब मेरे चाचा की शादी को पांच साल हो गए थे और उनके बच्चे नहीं थे और वो लोग बच्चा गोद लेने की सोच रहे थे | लेकिन हमारी दादी ने मना कर दिया था | ऐसे ही कभी मैं चाची के दूध देखा करता था जब भी वो झुकती थी | मैं कभी कभी होली पे चाची को रंग लगाने के बहाने उनके दूध छुआ करता था और कभी तो उनकी ब्रा पैंटी सूंघ कर मुट्ठ मारा करता था | मेरा चाची को चोदने का बहुत मन करता था लेकिन मुझे मौका नहीं मिल पता था | मैंने एक बार चाची के कमरे की खिड़की से झाँका तो मैंने देखा था तो चाची अपने कपडे बदल रही थी और उन्होंने सिर्फ पेटीकोट पहना था और उनके दूध मुझे साफ साफ दिखाई दे रहे थे |

चाची के दूध बहुत गोरे थे और बड़े तो बहुत थे और उनके ऊपर काले निप्पल देख कर तो मुझे मज़ा ही आ गया था | मैंने तो उस दिन तीन बार मुट्ठ मारा था वही सोच सोच के | चाची जब भी बाहर जाती थी तो मैं उनके कमरे में जाकर उनकी पैंटी सुंघा करता था | ऐसे ही एक बार मैं चाची क कमरे में उनकी पैंटी सूंघ रहा था तो एकदम से चाची आ गई और मुझे पीछे से देखा और कहा अरे ! विक्की कुछ काम था क्या ? तो मैंने पैंटी वहीँ फेक दी और चाची ने मुझे फेकते हुए देख लिया लेकिन कुछ नहीं कहा और फिर मैं वहाँ से चला गया |मुझे लगा था कि चाची मुझसे गुस्सा हो जाएगी लेकिन चाची मुझे और फ्रैंक हो गई |

अब चाची मेरे को हाँथ पकड़ कर अपने पास बैठा लिया करती थी और बातें किया करती थी | चाची मुझसे पूछती रहती थी शादी कब करोगे और तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है क्या ? मुझे कभी कभी समझ नहीं आता नहीं था कि आखिर चाची ये सब पूछ क्यूँ रही है ? फिरएक दिन चाची ने मुझसे पूछा तुमने कभी वो किया है ? तो मैंने पूछा वो क्या ? तो चाची ने मुंह घूमते हुए कहा वही, तो मैं समझ गया और कहा नहीं चाची नहीं किया | तो चाची बोली मतलब अच्छे लड़के हो | तो मैंने कहा हाँ चाची अच्छा हूँ | एक बार मेरे मम्मी पापा और चाचा को किसी फंक्शन में गए हुए थे | उस दिन खूब बारिश हो रही थी और बिजली चमक रही थी चाची ने मुझे अपने साथ सोने के लिए बुला लिया |

रात को मैंने हाँथ सीधा किया और थोड़ी देर बाद चाची ने करवट ली तो चाची का दूध मेरे हाँथ पर आके रख गया और मेरी नींद तो वैसे ही टूटी हुई थी | जैसे ही चाची का दूध मेरे हाँथ आके रखा तो मेरी आँखें पूरी तरह से खुल गई और मैंने सोच की अब क्या करूँ ? तो मैंने थोड़ी देर अपना हाँथ वहीँ रहने दिया और थोड़ी तक चाची ने कोई हरकत नहीं की तो मुझे लगा चाची की अच्छी नींद लगी है मौके का फायदा उठा लो | तो मैं धीरे धीरे चाची के दूध दबाने लगा | तभी चाची ने मेरा हाँथ पकड़ लिया तो मेरी गांड फट गई और चाची ने कहा मत करो सोच जाओ जिगर (मेरे चाचा का नाम) | मुझे लगा चाची नींद में हैं और मुझे चाचा समझ रही है, तो मैं चुपचाप सो गया |

फिर कुछ दिन बाद फिर से मेरे घरवाले बाहर चले गए और मैं और चाची ही घर पर थे | मैं अपने कमरे में सो रहा था जैसे मेरी नींद हलकी सी खुली तो मैंने देखा कि चाची आ रही है | तो मैं फिर से सोने का नाटक करने लगा | मैंने अपना पजामा उता और मेरा लंड तो खड़ा ही था तो मेरे लंड का उठाव कम्बल से दिख रहा था | जैसे ही चाची मेरे पास आई और मुझे उठाने लगी और मैं नहीं उठा तो वो उठी और बोली शायद गहरी नींद में है, सोने दो | फिर एकदम से मुझे आवाज़ आई इसका तो बड़ा लग रहा है देखूँ क्या, अगर उठ गया तो ? तो चाची ने मेरा कम्बल उठाया और मेरा लंड देख कर कहा वाह ऐसा लंड तो इसके चाचा का भी नहीं है, अगर ये मेरी में जाये तो मज़ा ही आ जाये | तो चाची ने कम्बल हटा दिया और मेरे लंड पकड़ के हिलाने लगी और बोल रही थी कि मेरे उठाने से नहीं उठा तो इससे क्या उठेगा ? लेकिन चाची को नहीं पता था कि मैं तो नाटक कर रहा हूँ |

मैं एकदम से उठ गया और चाची की तरफ हैरानी से देखने लगा | चाची ने मेरा लंड हाँथ में पकड़ा था और मेरी तरफ देख रही थी | तो मैंने कहा ये क्या कर रही हो चाची ? तो चाची ने कहा बदला ले रही हूँ | तो मैंने पूछा कैसा बदला ? तो चाची ने कहा उस दिन जब रात को तुमने मेरे दूध दबाये थे | मैं हैरान रह गया और चाची ने मेरा लंड हिलाना शुरू कर दिया | जब चाची अपने कोमल हांथों से मेरा लंड पकड़ कर हिला रही थी तो मुझे अन्दर से बड़ी ख़ुशी हो रही थी | फिर चाची ने मेरे लंड को चांटा और मुंह में डाल लिया | जैसे ही चाची ने मेरा लंड अपने मुंह में डाला तो मुझे तो जन्नत ही नज़र आ गई | फिर चाची ने मेरा लंड चूसा और मेरा छूट गया |

फिर चाची उठी और जाने को हुई तो मैंने चाची का हाँथ पकड़ के कहा अब मेरी बारी है | फिर मैंने चाची को पकड़ा और उनके होंठ चूमने लगा | चाची के होंठ बहुत ही प्यारे थे और मुझे उनका रस चूसने में बड़ा मज़ा आ रहा था | फिर मैंने चाची को लिटा दिया और उनके ऊपर लेट कर चुम्मा चाटी करने लगा | चाची भी मेरे साथ बराबरी से चुम्मा चाटी कर रही थी और पुरे मज़े ले रही थी | फिर मैंने चाची के ब्लाउज के हुक खोले और ब्रा उठा दिया | चाची के दूध बहुत बड़े थे और दबाने में मेरे पुरे हाँथ में समां रहे थे इसलिए चाची के दूध दबाने में बड़ा मज़ा आ रहा था | फिर मैंने चाची के दूध को मुंह से लगाया और चूसने लगा |

चाची ऊउम्मम्म ऊऊम्म्म्म कर रही थी और कह रही थी और चुसो विक्की, तो मैंने चाची के निप्पल कटाने शुरू कर दिए | अब चाची गरम होने लगी थी तो मैंने चाची की साड़ी उतार दी | और जैसे ही मैंने उनकी पेटीकोट का नाडा खोला और उतारने लगा तो उनके ग्रे और चिकने पैर देख के मेरा लंड और जमके के खड़ा होने लगा | चाची ने नीले कलर कि पैंटी पहनी थी और वो नीचे से थोड़ी दी गीली हो गई थी | फिर मैंने चाची को चूमने लगा और उनकी चूत को उनकी पैंटी के ऊपर से घिसने लगा | मैंने चाची की चूत में हाँथ डाला और उनकी चूत को छुआ तो लगा कि जैसे नीचे आग लगी है | फिर मैंने चाची की पैंटी उतार दी और अब चाची मेरे सामने बिलकुल नंगी पड़ी थी | फिर मैंने चाची की चूत में ऊँगली की और फिर दोनों ऊँगली डाल दी |

फिर मैंने चाची के चूत पे रगड़ने लगा तो चाची ऊउम्म् आअह्ह्ह्ह करने लगी तो मैंने कहा अभी डाला नहीं है | फिर मैंने चाची की चूत में लंड डाल दिया तो चाची की आअह्ह्ह्ह निकल गई और चाची ने कहा तुम्हारे चाची का तो बहुत छोटा है और तुम्हारे चाचा मुझे संतुष्ट भी नहीं कर पाते | तो मैंने चाची को ज़ोर ज़ोर से चोदना शुरू किया और चाची दर्द भरी सिस्कारियां लेने लगी | मैं चाची को चोदे जा रहा तभी चाची ने कहा अब दुसरे तरीके से चोदो तो हमे पोजीशन चेंज की और फिर से चुदाई करने लग गए | मैंने चाची को करीब 20 मिनिट तक चोदा और फिर मैंने अपना दही चाची की चूत में ही झाडा दिया और फिर वहीँ चाची से लिपट के लेट गया | हम दोनों थोड़ी देर तक सोये और जैसे ही मैं उठा तो देखा कि चाची मुझे देख रही है तो मैंने फिर से चाची को चोद दिया | चाची ने मुझ से कहा इतनी बार चुदी लेकिन मज़ा तो आज आया है, असली चुदाई इसे बोलते है | अब चाची का एक बच्चा है और आपको तो पता है वो किसका है ?

तो दोस्तों कैसी लगी मेरी दास्ताँ, वैसे मैंने एक बार चाची की सहेली को भी चोदा है लेकिन मैं वादा करता हूँ वो अगली कहानी में ज़रूर बताऊंगा |


error:

Online porn video at mobile phone


madam ko choda kahanicomic sex storieshindi sxy kahanipooja bhabhi ko chodaww antarvasnamast nangi chutbhai bahan ki chudai ki kahani hindididi ko chudte dekhabhabhi devar ki chudai kahanigaon ki chutdesi chudai ladkichut land sex storyhindi sex story hotbahanchod bhaididi ne chudai kiporn sex hard fuckchikni indian chutchudaimazarap sex storysexy aunty ki chudai hindi storychachi segarbhwati ki chudaichut chadaisexy chut story in hindisasural me chudaiantarvasna bhai bahan chudaibhojpuri chut ki chudaimuskan sexindian adivasi sexxxx story with imagehinde six storybeti ki chudai ki kahani in hindibhai aur baap ne chodabhabhi ki thukaihindi sex story mami ki chudaihd hindi sexisexy story indian in hindistory of sex in marathihindi story sitepatna chudaidin me chudaimast chudai with photosex stories in hindi with picsdadaji ne chodadidi jija ki chudaighar me chut marihot desi hindiindian hindi desi sexnew hindi sex story comhindi story porn moviechudai pagebhabhi ki chut sex storyhindi sex story moviechoti ladki ki chudai videobadi bahan ko chodahindi adult storybhai bahen ki chudai storihindi sexy kahaniyindian chudai kahani hindibehan ki chutmotherchodholi me bhabhi ko chodawww apki bhabhi com69 in hindichachi ki chudai ki kahanimeri chudai ki dastaanbahan chudai hindiaunty ki chudai ki storyhindustani bhabhi ki chudaichut ki chudai ki kahani in hindikatrina ki maa ki chootsexy baba comstories of sarita magazinechoot in hindisali sex storychut chudai kahaniya hindichut and sex